Bhaukaal 2 Review: ‘भौकाल’ का दूसरा सीजन लक्ष्य से भटक गया है

18 views
2 mins read
Bhaukaal 2 Review: ‘भौकाल’ का दूसरा सीजन लक्ष्य से भटक गया है

Bhaukaal 2 Review: मिर्ज़ापुर देख चुके दर्शक अब उत्तर प्रदेश की गुंडागर्दी और बाहुबली प्रथा से खासे परिचित हैं. भौकाल में भौकाल ही नहीं बना है किसी का. पुलिस का भौकाल बनना ज़रूरी था लेकिन अपराधियों का कैरेक्टर ग्राफ बहुत ही कमज़ोर है. वेब सीरीज में बैक स्टोरी दिखा कर किरदार का मोटिव समझाया जा सकता है लेकिन भौकाल 2 ऐसा कुछ नहीं करता जबकि सीजन 1 में सब कुछ रहा है. भौकाल 2 कमजोर है. पहले सीजन को पसंद करने वालों को निराशा हाथ लगेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Previous News

Putham Pudhu Kaalai Vidiyaadha Review: पुत्तम पुधु कालई वितियता में कुछ कहानियां बहुत खूबसूरत हैं

Next News

Shyam Singha Roy Review: एक्टर नानी के फैंस के लिए ‘श्याम सिंघा रॉय’ एक बढ़िया फिल्म है